मरण बिंदु #Astrological 

#मरण_बिंदु ;- सूर्य , चन्द्रमा , गुरु , शनि के राशि अंश ,कला ,विकला जोड़ कर मरण बिंदु निकल जाता है। मरण बिंदु पर शनि का गोचर मृत्यु या मृत्यु तुल्य कष्ट देता है। 

उदाहरण – 
ग्रह – राशि – अंश – कला – विकला 

सूर्य – ०४ : २१ : ३६: ०५ 

चंद्र – ०७ : ०३ : ५५ : २९ 

गुरु – ०० : २२ : ३८ : ०९ 

शनि – ०० : २१ : ३८ : ३४ +

———————-

१३ : ०९ : ४८ : १७ 

१२ : ०० : ०० : ०० –

__________________

०१ : ०९ : ४८ : १७

इस प्रकार अगर शनि का गोचर वृष राशि के 09:48:17 पर गोचर करेगा तो ये समय जातक के लिये प्राण संकंट पैदा करने वाला होगा ।
Written by

 Astrologer – Kavindra Kumar

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s